Category Archives: Poetry Platform

  • हिंस्रता : मधुकान्त कल्पित , अनुवाद : पारुल सिंह

    Posted on February 3, 2013 by Yogesh Vaidya in Poetry Platform.

    हिंस्रता   मधुकान्त कल्पित  , अनुवाद : पारुल सिंह   अभी कल ही मैंने काटे होगे नाखून इसलिए यह हाथ लग रहे हैं कितने सुहाने और सभ्यता से परिपूर्ण ! परंतु अचानक आज क्या पता क्रुद्ध और क्षुधित हो उठा पूरा वातावरण एक पल में तो गली मेरी बन गई उन्माद की लपकती ज्वाला मुलायम […]

    Continue Reading...
    No Comments.
  • अर्थ : हरीश मंगलम , अनुवाद : सत्यपाल यादव

    Posted on February 3, 2013 by Yogesh Vaidya in Poetry Platform.

    अर्थ हरीश मंगलम ,  अनुवाद : सत्यपाल यादव   हे कविता देवी ! तुझे नचाना है मुझे हकीकत के परदे पर हमने कभी भी इन्द्रधनुषी सात रंगों का सुख नहीं भोगा उसी आकाश में एक के बाद एक झरते तारों को देखकर इन्द्रराज में से अपने घर मुझे पैदल जाना है देख, लिपाई की नक्काशी में […]

    Continue Reading...
    No Comments.
  • खेत : अरविन्द वेगडा , अनुवाद : सत्यपाल यादव

    Posted on February 3, 2013 by Yogesh Vaidya in Poetry Platform.

      खेत अरविन्द वेगडा ,      अनुवाद : सत्यपाल  यादव हमें भी उगाया जाता हैं खेत में लेकिन हम उग नहीं सकते इसलिए सितम के चाबुक उठाकर वे लोग खेत जोतने खींचवा रहे हैं हल हल से पसीने के पानी में भूख के खाद के साथ अरमानों की बाई करते हैं.   युगों से […]

    Continue Reading...
    No Comments.
  • लगता है कि : जीवण ठाकोर , अनुवाद : पारुल सिंह

    Posted on February 3, 2013 by Yogesh Vaidya in Poetry Platform.

    लगता है कि              जीवण ठाकोर  ,  अनुवाद : पारुल  सिंह           मुझे लगता है कि इस जंगल में आज तो जटा को सहलाऊँ और दहाड़ लगाऊँ कभी तो लगता है कि इन ऊँची ऊँची पहाड़ियों और गहरी गहरी खाइयों को एक छलांग में अश्व जैसी छलांग भरकर कूद जाऊँ केसरिया साफा सिर पर बाँधकर पूर्वजों […]

    Continue Reading...
    No Comments.
  • About This Poetry Platform

    Posted on January 21, 2013 by Yogesh Vaidya in Poetry Platform.

    Respected Visitor, This platform is created to establish a bridge between Gujarati Poetry and World Poetry. We welcome all Translations from Gujarati to English / Hindi  , And  from any World Language to Gujarati. The write-ups on world poetry /poets are also welcome .  This is open platform for we all who love poetry irrespective of […]

    Continue Reading...
    4 Comments.